I SUED THE SCHOOL SYSTEM (2021)

I SUED THE SCHOOL SYSTEM (2021)

SUBTITLE'S INFO:

Language: Hindi

Type: Human

Number of phrases: 78

Number of words: 1203

Number of symbols: 4869

DOWNLOAD SUBTITLES:

DOWNLOAD AUDIO AND VIDEO:

SUBTITLES:

Subtitles prepared by human
00:00
अल्बर्ट आइंस्टाइन ने एक बार कहा था प्रत्येक व्यक्ति प्रतिभावान है, लेकिन अगर कोई एक मछली को उसकी योग्यता अनुसार उसे पेड़ पर चढ़ाने को बाधित करते हैं तो कभी भी ऐसा विश्वास नहीं किया जा सकता यह एक बेवकूफी है जूरी के देवियों और सज्जनों आज हम आधुनिक शिक्षा प्रणाली पर परीक्षण करेंगे आप केवल एक मछली को पेड़ पर ही नहीं चढ़ाते, परंतु उसे 10 मील नीचे भी भगाते हैं। स्कूल वाले मुझे बताएं कि आप ऐसा करके गर्वान्वित महसूस करते हैं। लाखों बच्चों को रोबोट्स में परिवर्तित करके आपको मजा आता है? आप महसूस करते की कितने बच्चे जिनकी इच्छा उपहार पाने की है, उस मछली से सम्बंधित है जो पेड़ पर चढ़ती है? वह मूर्ख विश्वास करते हैं, वह बेकार है। अच्छा! अब कोई अन्य बहाना नहीं बनाते हुए- मैं स्कूल वालों को कटघरे में बुलाता हूं, और उन पर जिज्ञासुता को खत्म करने का आरोप लगाता हूं। यह बौद्धिक एवं व्यक्तित्व रुप से अपमानजनक है, क्योंकि यह एक पूरानी संस्थाएं हैं जिन्होंने अपना उपयोग बडा लिया है। इस प्रकार जज साहब मैं अपना प्रारंभिक वाक्य प्रस्तुत करता हूँ। यदि मैं अपने केस के सबूत प्रस्तुत करता हूं तो, मैं इसे सिद्ध कर दूंगा। जारी रखे। यह एक आधुनिक फोन है।
01:07
यह एक 150 साल पुराना फोन है, इन दोनों फोनों में बहुत ज्यादा परिवर्तन आए हैं। यह एक वर्तमान की कार है, और यह एक डेढ़ सौ साल पुरानी कार है। इन दोनों में भी बहुत परिवर्तन आए हैं। अब चलिए! यह एक वर्तमान का कक्षा कक्ष है। 150 वर्ष पूर्व में भी इसी प्रकार के कक्षा कक्ष थे। इन 150 वर्षों में स्कूली शिक्षा में कोई भी परिवर्तन नहीं आया है। और आप(स्कूल वाले) विद्यार्थियों का भविष्य बनाने का दावा करते हो? लेकिन यह सबूत है कि क्या? मैं इनसे पूछना चाहता हूं कि आप भविष्य के लिए छात्रों को तैयार कर रहे हैं, या अतीत के लिए। मैंने आप की पृष्ठभूमि की जांच की और एक रिकॉर्ड बनाया की- आपको कारखानों में काम करने के लिये बच्चों को प्रशिक्षित करने के लिए बनाया गया है। जो व्याख्या करता है कि आप विद्यार्थियों को सीधे अच्छी भूमिका में डालते हो और साफ बताते हो अगर आप कुछ बोलना चाहते हो तो अपना हाथ खड़ा करें। खाने के लिए थोड़ा सा समय है। और 1 दिन में 8 घंटे उन्हें बताते हो कि उन्हें क्या सोचना है। ओह!! और A ग्रेड के लिए एक दूसरे में प्रतिस्पर्धा करवाते हो। और ये ग्रेड उनके गुणों के बारे में बताता है। मैंने अच्छी किस्म का मांस पाया। तब समय अलग था। हम सभी अतीत में जी रहे है। मैं स्वयं गांधी नहीं हूं, लेकिन आज हमें रोबोट और लाशों जैसे विद्यार्थी बनाने की आवश्यकता नहीं है। विश्व मे उन्नति की है। और अब हमें रचनात्मक रूप से सोचने वालों की आवश्यकता है। प्रगतिशील गंभीर रूप से और स्वतंत्र रूप से जुड़ने की योग्यता होनी चाहिए।
02:12
देखिए! प्रत्येक वैज्ञानिक बताता है कि दो दिमाग समान नहीं होते है। और प्रत्येक माता-पिता जिनके दो या दो से अधिक बच्चे हैं उन्हें इस बात का पता है। तो कृपया बताये की आप विद्यार्थियों के साथ कुकी कटर और स्नैपबेक टोपी जैसा व्यवहार क्यों करते हो जो सभी के लिए समान होती है। बकवास (जज-अपनी भाषा संभाले) माफी चाहता हूं, जज साहब। यदि एक डॉक्टर अपने सभी मरीजों को एक ही दवा दे तो इसके परिणाम भयंकर होंगे, परंतु जब बात स्कूल की आती है तो बहुत लोग बीमार होते हैं। यह एक शैक्षिक अत्याचार है जहां एक शिक्षक 20 विद्यार्थियों के सामने खड़ा होता है। इन बच्चों के तनाव अलग-अलग है, इनके सपने अलग-अलग अलग है, इनकी इच्छाएं अलग-अलग है परंतु सभी को एकसमान तरीके से पढ़ाया जाता है। जो भयंकर है। देवियों और सज्जनों प्रतिवादी को बरी नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि यह सबसे ख़राब अपराधों में से एक हो सकता है। प्रतिबंध होने के लिए चलो, अब हम कर्मचारियों के व्यवहार का वर्णन करते हैं। आपत्ति खारिज करता हूं। (जज- मैं यह सुनना चाहता हूं) शिक्षक की नौकरी ब्रह्मांड में सबसे महत्वपूर्ण नौकरी है , परंतु उन्हें कम वेतन मिलता है। कोई आश्चर्य नही की कुछ विद्यार्थियों में थोड़े बदलाव आये है। चलिये ईमानदार बनते हैं। शिक्षकों को एक डॉक्टर के सम्मान वेतन मिलना चाहिए क्योंकि एक डॉक्टर हृदय का ऑपरेशन करके एक बच्चे की जान बचा सकता है
03:19
लेकिन एक अच्छा शिक्षक विद्यार्थी के हृदय में जाकर उसे अपने मन से जीवन जीने की अनुमति दे सकता है। शिक्षक, नायक होते हैं परंतु अकसर उन पर आरोप लग जाते हैं, परंतु यह आरोप समस्याएं नहीं है। ये एक प्रणाली में काम करते है। पाठ्यक्रम नीति निर्माताओं द्वारा निर्धारित किये जाते हैं , जिन्होंने एक दिन भी बच्चों को नही सिखाया है। मानक परीक्षण में बहु विकल्पी प्रश्न में गोलों द्वारा उत्तर निश्चित किया जाता है। सफलता जो वास्तव में अपमानजनक है। इन परीक्षण का उपयोग करना गलत है इसलिये इन्हें छोड़ दिया जाना चाहिए। इसके लिए मेरे शब्दों का प्रयोग न करे। फ़्रेडरिक जे के शब्दों को लीजिए। केली जिसने खोज की थी मानक परीक्षण की, उसने कहा कि- ये परीक्षण बहुत गलत(कच्चे) है, इनका उपयोग छोड़ देना चाहिए। जूरी के देवियो और सज्जनों अगर हम इस सड़क को जारी रखते है तो, इसके परिणाम जानलेवा है। में स्कूलों में ज्यादा विश्वास नहीं रखता हूँ, परन्तु मुझे लोगों में विश्वास है। यदि हम स्वास्थ्य, कारों तथा फेसबुक पेज को समय के अनुकूल कर सकते है, तो हमारा कर्तव्य है कि हमे शिक्षा प्रणाली को भी विकसित करना चाहिए। जिससे बच्चो की स्कूल की भावना परिवर्तित हो। क्योंकि वर्तमान शिक्षा प्रणाली अनुपयोगी है। हम विद्यार्थियों की आत्मा को बाहर लाने का कार्य करंगे ये अपना कार्य होना चाहिए। इसके बजाय न कोई अन्य सामान्य कार्य। हमे हर कोर के प्रत्यके ह्रदय में, प्रत्यके कक्षा में ऐसे जताना चाहिए की गणित महत्वपूर्ण है परंतु कला और नृत्य से अधिक महत्वपूर्ण नहीं
04:31
हमे प्रत्यके को समान मौके देने चाहिए। में जानता हूँ कि यह ध्वनि एक सपने जैसी है। फ़िनलैंड जैसे देशो में एक अच्छी सोच आयी है, यहाँ स्कूल में कम समय चलता है, यहां के शिक्षक एक सभ्य गृहकार्य बनाते है। ये अस्तित्व में नहीं सहयोग में विश्वास रखते है। प्रतिस्पर्धा के बजाय, यहाँ मनमौजी(लड़के और लड़कियों की) शिक्षा प्रणाली है। दुनिया में हर देश दूसरे देश से बेहतर प्रदर्शन करता है। सिंगापूर जैसे देशों की स्कूलें विकसित हो रही है। केवल मोंटेसरी प्रोग्राम और खान एकेडमी इसका हल नहीं है। चलिए देखते है कि विद्यार्थी पूरी जनसंख्या का 20 % हिस्सा बनते हैं जो हमारे भविष्य का 100 % है, इसलिये इनके सपनों की देखते है। और कोई यह नहीं कहे की हम कहाँ पा सकते हैं। मैं इस विश्व में ऐसे विश्व की कामना करता हूं, जहां पर मछलियों को पेड़ों पर चढ़ने के लिए बाधित ना करें। मैं अपने केस को विराम देता हूं। ( तालियों की गड़गड़ाहट) नमस्कार दोस्तों मेरा नाम प्रिंस इआ है। मेरे वीडियो में देखने के लिए आप सबका बहुत-बहुत धन्यवाद। लेकिन मैं जानना चाहता हूं कि हम सब एक हो इसके बारे में आपके क्या विचार है? हमें सीखने का बेहतर, प्रभावी और कुशल तरीका बनाना चाहिए ताकि विद्यार्थियों का भविष्य उज्जवल हो। मैं चाहता हूं कि आप neste.com/preorderthefuture वेबसाइट पर जाए और विश्व शांति के विषय पर अपने विचार प्रकट करें।
05:59
क्योंकि विरोधाभास यही था।

DOWNLOAD SUBTITLES: